गौआतंक –मोब लिंचिंग के बाद हरियाणा में मस्जिदों पर गाज़: भीम सेना ने दी सरकार को चेतावनी
| 12 Sep 2018

गुरुग्राम। बुधवार को शीतला कॉलोनी में नगर निगम द्वारा एक मस्जिद को सील करके नमाज पढ़ने पर रोक लगा दी है। जिससे मुस्लिम समुदाय में रोष उत्पन्न हो गया है। इसी बीच भीम सेना की भी प्रशासन और सरकार के खिलाफ तीखी प्रतिक्रिया आई है। भीम सेना ने मुस्लिम समुदाय के समर्थन में उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। भीम सेना के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष नवाब सतपाल तंवर ने प्रेस बयान जारी कर कहा कि मस्जिद की जमीन कोई सरकारी नहीं है वह मुस्लिम समुदाय की संपत्ति है। जिस पर प्रशासन ने सरकार की शह पर अवैध कब्जा करने का अपराध किया है। इसका खामियाजा भाजपा सरकार और नगर निगम के अफसरों को भुगतना पड़ेगा। तंवर ने चेतावनी भरे लहजे में कहा यदि प्रशासन की इस अवैध कार्यवाही से हालात बिगड़े तो इसकी जिम्मेदार हरियाणा सरकार और केंद्र सरकार होगी। भीम सेना प्रमुख ने मुस्लिम समुदाय का समर्थन करते हुए उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। तंवर ने कहा कि प्रशासन समय रहते मस्जिद पर लगाई गई सील हटा ले वरना अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे। तंवर ने साफ चेतावनी दी है कि मस्जिद से सील नहीं हटाई गई तो भीम सेना पूरे शहर को बंद कर देगी।

गौरतलब है कि नगर निगम ने मस्जिद वाली जगह को रिहायशी जमीन बताते हुए उसको सील कर दिया है। इसके साथ लाउड स्पीकर का भी हवाला दिया गया है। लेकिन सवाल यह उठता है कि किसी की भी जमीन पर प्रशासन कैसे अवैध कब्ज़ा कर सकता है। शहर में ऐसी सैंकड़ों जगह हैं जो रिहायशी हैं और वहां मंदिर बनाकर खूब लाउड स्पीकर चलाया जाता है तो ऐसे में मुस्लिम समुदाय के साथ ही ये दोगला व्यवहार क्यों।

बहरहाल मुस्लिम समुदाय के साथ भीम सेना के आ जाने से प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए हैं। वहीं भीम सेना प्रमुख नवाब सतपाल तंवर की चेतावनी से खुफिया एजेंसियों में हड़कंप है। क्योंकि पहले भी तय समयनुसार भीम सेना गुरुग्राम में चक्का जाम कर चुकी है। अनेकों बार शहर में भीम सेना ने अपनी ताकत दिखाई है। भीम सेना ने आंदोलनों में अधिकारियों के पसीने छुड़ा दिए है। दिल्ली में भी अनेकों बार लाखों भीम सैनिकों ने बड़े-बड़े आंदोलन किए हैं। अब बात मुस्लिम समुदाय की आ गई है तो भीम सेना फिर से अक्रामक मूड में है। प्रशासन की एक गलती से शहर के हालात बिगड़ने का खतरा उत्पन्न हो गया है।